Translate

Contact Me

 LinkedinFacebookFacebookFlickrTwitterSlideshare Google Buzz

अभिलेखागार

श्रेणीबद्ध करके

हिन्दी मीडिया में रंजना भाटिया ने मेरे बारे में एक लेख लिखी

श्रीमति रंजना भाटिया

श्रीमति रंजना भाटिया

मेरे बारे में एक पोस्ट हिन्दी मीडिया में लिखकर एक मलयाली के बारे में हिन्दी ब्लोगरों के बीच जान पहचान कराने में श्रीमति रंजना भाटिया काम्याप हो चुके हैं। इन्होंने कुच्छ दिन पहले एक ई-मेल मुझे लिखी थी।

नमस्ते ..

कई दिन से आपका ब्लॉग पढ़ रही थी …कुछ प्रश्न जानने की उत्सुकता है …क्या आप हिन्दी समझ सकते हैं ..यदि हाँ ..तो मेरे कुछ प्रश्न है …

उनकी प्रश्नों के उत्तर मैं ने भेजा था।

यह कवयित्री रंजना भाटिया जिनकी जन्म हरियाणा के रोहतक ज़िले के कलनौर गाँव में १४ अप्रैल,१९६६ को हुआ। आरम्भिक शिक्षा दिल्ली में और कॉलेज जम्मू से किया। इन्होंने बी॰एड॰ तक की शिक्षा ली है। बचपन से ही लिखने में रुचि थी। कई लेख और कविता शुरू में दैनिक जागरण, अमर उजाला और भाटिया प्रकाश [मासिक पत्रिका] आदि में छपे, फिर घर में व्यस्त होने के कारण लिखना सिर्फ़ डायरी तक सीमित रह गया। सैकड़ों कविता लिखी हुई हैं। १२ साल तक स्कूल में अध्यपिका रहीं। पत्रकारिता में ली गई डिप्लोमा की डिग्री बहुत काम आई। लगभग दो वर्षों तक मधुबन पब्लिशर के साथ जुड़ी रहीं जहाँ इन्हें उपन्यास सम्राट प्रेमचंद के उपन्यासों की प्रूफ़-रीडिंग और एडीटिंग का अनुभव प्राप्त हुआ। फ़िलहाल घर में हैं और बच्चों को पढ़ाती हैं। अब कुछ समय से नेट में कई फ़ोरम में लिखती हैं। कविता और हिंदी-साहित्य में विशेष रुचि है। बच्चन ,अमृता प्रीतम और दुष्यंत जी को पढ़ना बहुत पसंद है।

Courtesy – मेरे बारे में

Comments are closed.