Translate

Contact Me

 LinkedinFacebookFacebookFlickrTwitterSlideshare Google Buzz

अभिलेखागार

श्रेणीबद्ध करके

मीडिया पर शर्म आनी चाहिए

किसी सरकार के वक्ता या संस्था जो समाचार लिखकर मीडिया को देने पर बगैर जाँच के प्रसारित करते हैं। एक कियान का प्रसारित आँकडे का विश्लेषण उत्तेजित करनेवाला हैं क्या? हमें  सांख्यिकी और अर्थशास्त्र पर विशेषज्ञों के कोई कमी नहीं हैं।इसके बारे में उन्हे क्या कहना हैं ?

http://t.co/9Y5MJIch यह सपूत देखने पर यह मालूम पडेगा की सन 2011 नवंबर में 56953 टण के स्वाभाविक रबड् की हेराफेरी की हैं।

चित्र केलिये धन्यवाद  –  मात्रृभूमी समाचार पत्र

सही आँकडे ऊपर नजर आ रहे हैं, उसके साथ जाँच करने केलिये रबर बोर्ड के प्रसारित आँकडे नीचे दिया हैं।

Ref: http://rubberboard.org.in/reports/exportimportvalue.pdf (Latest by the Rubber Board)

Latest Monthly Rubber Statistical News: http://www.rubberboard.org.in/RSN/RSN_Jan_2012.pdf Published in January 2012.